सत्यम सफलता


मैं विफलता-सफलता की बात कर रहा था। सत्यम की वेब साइट, जो अब बड़ी कठिनाई से खुल रही थी (बहुत से झांकने का यत्न कर रहे होंगे), के मुख्य पन्ने पर बने विज्ञापन में एक छवि यूं है:

satyam success

सफलता लक्ष्य/परिणाम पर सतत निगाह रखने का मसला है।

काश सत्यम ने यह किया होता।

सत्यम छाप काम बहुत सी कम्पनियां कर रही होंगी। और आस पास देखें तो बहुत से लोग व्यक्तिगत स्तर पर उस प्रकार के छद्म में लिप्त हैं। अन्तर केवल डिग्री या इण्टेंसिटी का है। मिडिल लेवल इण्टेंसिटी वाले “सत्यमाइज” होते हैं। बड़े पापी मार्केट लीडर हो जाते हैं। छोटे छद्म वालों को कोई नोटिस नहीं करता।  

बाइबल की कथा अनुसार पतिता को पत्थर मारने को बहुत से तैयार हैं। पहला पत्थर वह मारे जो पाक-साफ हो!

सत्यम का शेयर ३९-४० रुपये पर बिक रहा है। खरीदने वाले तो हैं। सब पत्थर मार रहे हैं तो कौन खरीद रहा है?    


 अटल-अडवानी-शेखावत श्री भैरोंसिंह शेखावत भाजपा को बगलें झांकने को विवश कर रहे हैं। छियासी साल का शेर मैन ईटर हो गया है क्या? अब जाने कितने भाजपा के नेता भारत को करप्शन फ्री बनाने आगे आयेगे। अमेरिकन प्रेसिडेंशियल चुनाव की प्रीलिमनरी का मजा आने लगा है भारत में!
@@@

और सोरेन गुरूजी गो-वेण्ट-गॉन?

Advertisements

34 Replies to “सत्यम सफलता”

  1. गुरुजी का गो वेण्ट गान तो ठीक है मगर राजु जैसे उद्योगपति और गुरुजी जैसो की खबर नही ली गयी तो इंडिया का गो वेन्ट गान हो जायेगा !!भैरिसिंह जी की टांग कमर मे लटकी है लेकिन प्रधानमंत्री बनने का लोभ से चित्त बंध गया है !

    Like

  2. खबर है कि भाव 10 रुपये तक आ गया है और शेयरों की सूची से बाहर कर दिया गया है। फुटपाथ पर, ढेरियों की शकल में मिलेगा-ऐसा लगता है।

    Like

  3. अजी यह सत्यम, यह राजू, यह सब तो भारत मै आम है, मुझे कोई हेरानगी नही होती, बस जो पकडा गया, वो थोडे दिन का चोर…. फ़िर थोडे दिनो बाद फ़िर से हीरो, फ़िर से नेता… राम राम

    Like

  4. सत्यम का जाना उतना परेशान नहीं करता जितना कि कई निवेशकों का पैसा डूबना या नए युवक युवतियों का कैरियर का डूब जाना |

    Like

  5. सफलता-असफलता जैसी धारणाएं समय, स्‍थान और परिस्थितियों के सापेक्ष हैं। हर आदमी में अच्‍छाइयां और बुराइयां होती हैं, जो जीता वो सिकंदर। माला पहन कर घूम रहे हैं तो शरीफ, हथकड़ी लग गयी तो चोर। बिहार के चर्चित आईएएस अधिकारी गौतम गोस्‍वामी के निधन की खबर आपलोगों तक भी जरूर पहुंची होगी। जिस बाढ़ राहत के लिए प्रसिद्ध टाइम पत्रिका ने उन्‍हें यंग एशियन अचिवर अवार्ड से सम्‍मानित किया था, उसी बाढ़ राहत में उन्‍हें घोटाले में आरोपित किया गया तो वे एकाएक हीरो से विलेन बन गए। रामलिंगा राजू कल तक हीरो थे, आज जीरो….हो सकता है किसी दिन खबर पढ़ने को मिले कि वे देश के वित्‍तमंत्री बन गए हैं।

    Like

  6. देखने वाली बात एक ही है. सत्यम में जो पाप होना था वो हो चुका है या असली बड़ा पाप अब होगा?

    Like

  7. बहुत बढ़िया लगा —- लेकिन पहला पत्थर वो मारे जिस ने पाप न किया हो — बहुत सटीक लिखा है।

    Like

  8. सच कहूं तो शिबू सोरेन के हारने से एक खुशी हुई है। न जानें क्यों।यह विदित है कि वे शायद अब या तो इस्तीफा देने के बाद फिर से मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे और किसी और सीट से फिर से चुनाव लड़ेंगे तब संभवत: जीत भी जाएं।लेकिन फिर भी उनकी हार ने एक प्रसन्नता दी है।क्या हम व्यक्तिवादी राजनीति से मुक्त होने की ओर बढ़ रहे हैं भले ही कछुए से भी धीमी चाल से।

    Like

  9. राजू बन गया सींकचो का मैन . सत्यम अंतम दुखम . जिन्होंने शेअर लिए थे वे सत्यम नाशम दुखम कर मातम मना कर सर पीट रहे है . लालच बुरी बलाय . दुनिया में लालचियो और लूटने वालो की कमी नही है . एक ढूंढो हजार मिलेंगे. हर शाख पे उल्लू बैठे है सारे गुलिस्ता का क्या होगा .

    Like

आपकी टिप्पणी के लिये खांचा:

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s