कबीर पर जरूरी विजिट


मेरे मित्र श्री सैयद निशात अली ने एल एस.एम.एस. किया है। वह जरूरी है मेरे, आपके, हम सब के लिये।
लिहाजा मैं प्रस्तुत कर देता हूं –

आदरणीय सर जी,
हम आप को और आपके परिवार को बहुत मंगलमय नया वर्ष २०१० एडवान्स में कामना भेजते हैं। यह इस लिये, क्यों कि कबीर दास जी ने कहा था:

काल करे हो आज कर, आज करे सो अब्ब।
क्या भरोसा कल नेट फेल हो गया, तो विश करेगा कब्ब।

मैं तो सिर्फ निशात अली जी की सलाह पर चल रहा हूं। इसी से प्रसन्न हो अगर वे तीन चार डीजल इन्जन दे दें तो कृपा होगी (श्री निशात अली जबलपुर में पश्चिम-मध्य रेलवे के मालगाड़ी चलाने के मालिक हैं)!

अपडेट: और उत्तर रेलवे के एम.जी.एम. (माल गाड़ी मालिक) श्री मनोज श्रीवास्तव ने भी नये साल का जल्दी एस.एम.एस. ठेल कर उसका वाजिब तकनीकी कारण बताया –

क्या पता, एस.एम.एस. के जाम में फंस जाये मैसेज! इस लिये पहले ही दे दिवा के छुट्टी पाई हमने तो!


Advertisements